पेइचिंग । चीन के शीर्ष वैज्ञानिक ने दावा किया है कि इस महीने के आखिर तक कोरोना वायरस दुनिया में 'निर्णायक मोड़' तक पहुंच सकता है। कोरोना से जंग के लिए चीन सरकार की ओर से तैनात किए गए डॉक्‍टर झोंग नानशान ने कहा कि चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण का दूसरा चरण शुरू नहीं होगा। उन्‍होंने कहा कि चीन ने बहुत प्रभावी निगरानी प्रणाली विकसित की है, इससे खतरा टल गया है।
डॉक्‍टर झोंग ने कहा कोरोना वायरस बहुत तेजी से संक्रमित करने वाला है और इसमें मरने वालों की तादाद बहुत ज्‍यादा है। इससे निपटने के दो तरीके हैं। एक इसके संक्रमण की दर को एकदम कम से कम कर दिया जाए और इसे फैलने से रोक दिया जाए, ताकि बचाव के लिए ज्‍यादा समय मिल सके। उन्‍होंने कहा कोरोना से निपटने का दूसरा तरीका यह है कि इसके संक्रमण में देरी कर दो और कुछ तरीके अपनाकर इसके मरीजों की संख्‍या को कम कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि सभी देशों ने बचाव के पर्याप्त उपाय किए हैं और  मेरा अनुमान है कि अप्रैल के अंत तक नए मामलों की संख्‍या कम होनी शुरू हो जाएगी। उन्‍होंने उन आरोपों को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि साइलेंट कैरियर की वजह से चीन में कोरोना फिर से पैर पसार सकता है।