बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और चारा घोटाला मामले में जेल में बंद लालू प्रसाद यादव को दोबारा निर्विरोध राष्ट्रीय जनता दल का अध्यक्ष चुना गया है। वह 11वीं बार पार्टी के अध्यक्ष चुने गए हैं। सोमवार को विधायक भोला यादव ने उनके नाम से नामांकन पत्र दाखिल किया। इसके साथ ही उन सभी अटकलों पर विराम लग गया है जिनमें कहा जा रहा था कि तेजस्वी यादव को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है।  
हालांकि लालू के जेल में होने के बाद तेजस्वी यादव ने राजद की कमान पूरी तरह से संभाल ली है। उनके स्तर पर ही सारी नीतियां तय की जाती हैं। यह बात और है कि वह लालू की सहमति लेना कभी नहीं भूलते। वहीं लालू लंबे समय से सक्रिय राजनीति से दूर हैं।

इसी वजह से चर्चा थी कि अब पार्टी की कमान तेजस्वी प्रसाद यादव को सौंप दी जाएगी। मगर सोमवार को जैसे ही लालू प्रसाद के नाम से नामांकन पत्र दाखिल किया गया वैसे ही तय हो गया था कि एक बार फिर पार्टी की कमान उसके संस्थापक के हाथ में जाएगी।