नई दिल्ली । दिल्ली के सिख समुदाय ने गुरुपर्व व नगर कीर्तन के दौरान 11 व 12 नवंबर को ऑड-ईवन से छूट की मांग दिल्ली सरकार से की है। दिल्ली सरकार इस मांग पर गंभीरता से विचार कर रही है। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर दिल्ली में 11 व 12 नवंबर को ऑड-ईवन से छूट देने के संबंध में बुधवार को सिखों का एक प्रतिनिधिमंडल तिलक नगर से विधायक जरनैल सिंह के साथ ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत से मिला। सिख समुदाय ने मुख्यमंत्री केजरीवाल तक भी अपनी मांग पहुंचाई है। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सिखों के प्रतिनिधिमंडल को उनकी मांगों पर गंभीरता से विचार करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, दिल्ली सरकार की तरफ से आप सभी को गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। केजरीवाल सरकार प्रकाश पर्व पर 11 व 12 नवंबर को ऑड-ईवन से छूट देने के लिए सकारात्मक विचार कर रही है। श्री गुरु नानक देव जी का 550 वां प्रकाश पर्व पूरी दुनिया में बहुत बड़े स्तर पर मनाया जाएगा। दिल्ली में रहने वाले सिख सुमदाय के लोगों के लिए भी ये एक ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण मौका है।
8 नवंबर से फिर बढ़ेगा हवा में जहर
दिल्लीवालों ने बुधवार को खुलकर सांस ली। दिवाली के बाद पहली बार राजधानी का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 216 रहा, जो कि पिछले कुछ दिनों से काफी बेहतर है। स्थिति यह रही कि दिल्ली की हवा चेन्नै से भी साफ थी। यह सब दक्षिण-पूर्व से आई हवाओं से मुमकिन हुआ। इन हवाओं ने दिल्ली-एनसीआर के लिए फिल्टर का काम किया है और पराली के धुएं को आने से रोक दिया। हालांकि यह राहत अधिक समय के लिए नहीं है। 7 नवंबर तक तो हालात बेहतर रहेंगे, लेकिन 8 नवंबर से प्रदूषण का स्तर बढऩे लगा और नॉर्थ-ईस्ट की ओर से आनेवाली हवाएं दिल्ली को प्रदूषित करेंगी। सीपीसीबी के एयर बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली का एक्यूआई 216 रहा, जबकि चेन्नई का 224। एनसीआर के शहर भी बुधवार को कम प्रदूषित रहे। फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 205, गाजियाबाद का 294, ग्रेटर नोएडा का 247, गुरुग्राम का 168 और नोएडा का 237 रहा। इससे पहले 22 अक्टूबर को एक्यूआई का स्तर 207 पर रहा था। उसके बाद से आज दिल्ली को इतनी साफ हवा मिली है। नवंबर में ऐसी हवा मिलना बड़ी राहत मानी जाती है।