जकार्ता । इंडोनेशिया ने कहा है कि वह इस्लामिक स्टेट में शामिल हुए अपने 700 के करीब नागरिकों को स्वदेश वापस नहीं आने देगा, हालांकि वह छोटे बच्चों को वापस लाने पर विचार कर सकता है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति ने इस सप्ताह कहा था कि वह सीरिया और अन्य देशों में आईएस के लिए लड़ने गए संदिग्ध आतंकवादियों और उनके परिवारों को वापस लाने के पक्ष में नहीं हैं। इस मामले में पूरा देश दो भागों में बंट गया है। सुरक्षा मामलों के मंत्री महफूज एमडी ने बताया कि महिलाएं और बच्चे समेत इंडोनेशिया के 689 लोग सीरिया में हैं और उन्हें देश लौटने की इजाजत नहीं दी जाएगी, जहां आईएस समर्थक समूहों ने कई बार हमले किए हैं। मंत्री ने जकार्ता के निकट राष्ट्रपति जोको विडोडो से बैठक के बाद मंगलवार को कहा हमने निर्णय किया है कि सरकार को 26 करोड़ 70 लाख इंडोनेशियाई नागरिकों को सुरक्षा मुहैया करानी है।