आजमगढ़. आजमगढ़ (Azamgarh) जिले में पिछलों दिनों ताबड़तोड़ लूट की घटनाओं को अंजाम देकर बदमाशों ने जहां पुलिस को खुली चुनौती दी थी. तो वहीं पुलिस ने डे-लाइट मुठभेड़ में बदमाशों के हौसले को पस्त कर दिया. शनिवार को पुलिस मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी बदमाश पंकज सिंह घायल हो गया. वहीं उसके दूसरे साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. जबकि दो साथी फरार होने में कामयाब हो गये. पुलिस ने बदमाशों के कब्जे से लूट की बाइक, तमंचा और कारतूस बरामद किए हैं. पुलिस ने घायल बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है.

दरअसल लूट की ताबड़तोड़ वारदात के बाद सक्रिय पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि लूट की घटनाओं में शामिल शातिर अपराधी पंकज सिंह अपने कुछ साथियों के साथ बाइक से किसी लूट की वारदाता को अंजाम देने के लिए मेहनाजपुर की तरफ जा रहा है. सूचना के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी शुरू की तो वे बेला गांव के समीप बदमाशों ने पुलिस टीम फायरिंग शुरू कर दिया.

पुलिस की जबाबी कार्रवाई में 50 हजार का इनामी और गैंग का सरगना पंकज सिंह घायल हो गया. जबकि दूसरे साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. वही डे-लाइट मुठभेड़ से पूरे गांव में हड़कंप मचा रहा है. एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मुठभेड़ में घायल बदमाश पंकज सिंह गैंग का सरगना है. वह गाजीपुर और आजमगढ़ में अपने साथियों के साथ लगाकर लूट की वारदातों को अंजाम दे रहा था. आजमगढ़ जिले में तीन लूट की घटनाओं में भी शामिल रहा है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इसकी पहचान कर 50 हजार का इनाम रखा गया था. एसपी के मुताबिक इसके अन्य फरार साथियों की तलाश में पुलिस की कई टीमें जुटी हुई है.